Tuesday, February 27, 2024
नैनीतालहादसा

हादसों में तीन की मौत : सड़क पर रपटे स्कूटी सवार दो दोस्तों को पिकअप ने रौंदा, सड़क किनारे खड़े व्यक्ति को हाइड्रा ने कुचला

ख़बर शेयर करें -

हल्द्वानी। आजादी के पर्व पर क्षेत्र के दो परिवारों में दुखों का कहर टूट पड़ा। स्वतंत्रता दिवस की दोपहर घूमने निकले स्कूटी सवार दो दोस्त हादसे का शिकार हो गए। नैनीताल रोड पर उनकी स्कूटी रपट गई और दोनों बीच सड़क पर गिर गए। वे संभल पाते, तभी पीछे से आई रेत से भरी पिकअप ने उन्हें रौंद दिया। मौके पर ही दोनों की मौत हो गई। हादसे की सूचना पर एसपी क्राइम भी मौके पर पहुंच गए। हादसे से सड़क पर लंबा जाम लग गया। शवों को पिकअप के नीचे से निकालने के बाद यातायात सुचारू हो सका।

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार जवाहर ज्योति दमुवाढूंगा काठगोदाम निवासी शुभम (23) पुत्र स्व. आनंद चंद्र जोशी पेशे से फोटोग्राफर था। यहीं रहने वाला यश बिष्ट (19) पुत्र शेर सिंह बिष्ट ने इसी वर्ष इंटर पास किया था। बताया जा रहा है कि स्वतंत्रता दिवस के दिन दोनों की छुट्टी थी। दोपहर करीब 12 बजे दोनों दोस्त घर से स्कूटी पर सवार होकर निकले और घरवालों को बताया कि वे घूमने जा रहे हैं।

दो गांव में टूटा पहाड़ के पास उनकी स्कूटी अनियंत्रित होकर रपट गई और दोनों दोस्त सड़क के बीच गिर गए। इससे पहले कि दोनों संभल पाते, पीछे से आ रही रेत से भरी पिकअप ने उन्हें चपेट में ले लिया। सूचना मिलते ही काठगोदाम पुलिस मौके पर पहुंच गई। एक युवक का शव पिकअप के पहिये के बीच फंस गया, जिसे निकालना मुश्किल हो रहा था।


इस बीच नैनीताल से स्वतंत्रता दिवस कार्यक्रम से लौट रहे एसपी क्राइम डॉ.जगदीश चंद्र भी मौके पर पहुंच गए। हादसे के कारण सड़क पर दोनों ओर लंबा जाम लग गया। शव को पिकअप के नीचे से निकालने के लिए मौके पर क्रेन बुलानी पड़ी जिसके बाद शव बाहर निकाला जा सका। उसके बाद एंबुलेंस की मदद से सुशीला तिवारी राजकीय चिकित्सालय भेजा गया, डॉक्टरों ने दोनों को मृत घोषित कर दिया।
इधर, पुलिस ने परिजनों को हादसे की सूचना दी और एसटीएच पहुंचने के लिए कहा। परिवार के लोग एसटीएच पहुंचे तो उन्हें मौत की खबर मिली। इस पर परिवार में कोहराम मच गया। पुलिस ने पोस्टमार्टम के बाद शव परिजनों के सुपुर्द कर दिए।

सड़क किनारे खड़े व्यक्ति को हाइड्रा से रौंदा
हल्द्वानी। स्वतंत्रता दिवस की शाम ऊधमसिंहनगर में भी एक हादसा हुआ जिसमें एक व्यक्ति की मौत हो गई। पुलिस के मुताबिक, आदर्श कॉलोनी काशीपुर ऊधमसिंहनगर निवासी वीरेंद्र कुमार (49) सिडकुल स्थित कंपनी में काम करते हैं। 15 अगस्त की शाम वह घर से बेटे को लेने के लिए निकले थे। रास्ते में फोन आने पर वह रुके और सड़क किनारे खड़े होकर बात करने लगे। इसी बीच बड़ी हाइड्रा क्रेन ने उन्हें अपनी चपेट में ले लिया। क्रेन के पहिये के नीचे आए वीरेंद्र बुरी तरह घायल हो गए। एंबुलेंस की मदद से उन्हें सुशीला तिवारी राजकीय चिकित्सालय भेजा गया जहां चिकित्सकों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया।