Monday, February 26, 2024
क्राइमदेशनवीनतम

गुस्सैल RPF जवान के पास थी AK-47 जैसी खतरनाक ARM गन, 30 गोलियां लोड थीं, जो सामने आया उस पर चलाईं

ख़बर शेयर करें -

मुंबई। जयपुर से चलकर मुंबई आने वाली ट्रेन में रेलवे प्रोटेक्शन फोर्स (RPF) के जवान ने फायरिंग कर दी, जिससे चार लोगों की मौत हो गई। मृतकों में 3 यात्री और एक आरपीएफ के एएसआई शामिल हैं।

रोपी जवान की पहचान चेतन सिंह परमार के रूप में हुई है। अब चेतन के बारे में चौंकाने वाले खुलासे हुए हैं। चीफ सिक्योरिटी कमिश्नर प्रवीण सिन्हा ने बताया कि चेतन गुस्सैल स्वभाव का था और पिछले दिनों से डिस्टर्ब चल रहा था। सिन्हा ने बताया कि वारदात के दौरान चेतन ने पहले अपने सीनियर एएसआई टीकाराम मीणा को गोली मारी और इसके बाद जो सामने आया, उस पर फायरिंग कर दी। इसी कारण तीन यात्रियों की मौत हो गई। वारदात को अंजाम देने के बाद चेतन ने चेन पुलिंग कर भागने की कोशिश की, लेकिन उसे पकड़ लिया गया।

AK-47 जितनी खतरनाक है ARM गन
आरपीएफ के सुरक्षाकर्मियों को ARM गन दी जाती है। इसे AK-47 जितनी खतरनाक बताया जाता है। चेतन सिंह परमार और उसके साथी सूरत से ट्रेन में चढ़े थे। इनकी जिम्मेदारी सूरत से मुंबई तक ट्रेन की सुरक्षा करना था। चेतन सिंह अपना ट्रांसफर होने से नाखुश था। इसी बात पर उसका अपने सीनियर टीका सिंह से विवाद शुरू हो गया। सूरत से चला यह झगड़ा महाराष्ट्र के पालघर और दहिसर के बीच उग्र हो गया। चेतन बेकाबू हो गया और उसने एएसआई को गोली मार दी। इसी बोगी के पास एस-6 कोच था। माना जा रहा है कि गोली की आवाज सुनकर कुछ लोग देखने आए और चेतन के गुस्से का शिकार हो गए। फिलहाल चेतन को गिरफ्तार कर लिया गया है और उससे पूछताछ की जा रही है। मृतकों में एक यात्री की पहचान कादर भाई के रूप में की गई है।