Monday, February 26, 2024
उत्तरकाशीउत्तराखण्डनवीनतमहादसा

उत्तराखंड में फिर हुआ दर्दनाक हादसा, नदी में वाहन गिरने से तीन महिलाओं समेत चार लोगों की मौत, दो घायल

ख़बर शेयर करें -

उत्तराखंड के उत्तरकाशी जिले में गंगोत्री हाईवे पर सैंज में आर्य विहार आश्रम के पास एक वाहन नदी में गिर गया। वाहन में छह लोग सवार थे। जिनमें से चार की मौत हो गई। दो घायलों अस्पताल में उपचार किया जा रहा है। मृतकों में तीन महिलाएं व एक पुरुष शामिल है।

शुक्रवार शाम को गंगोत्री हाईवे के पास वाहन के दुघर्टनाग्रस्त होने की खबर मिली। पुलिस, एसडीआरएफ की टीम एवं जिला चिकित्सालय से एक एंबुलेंस घटनास्थल के लिए रवाना हुई। हादसे में तीन लोगों की मौके पर ही मौत हो गई थी। जबकि तीन लोगों को अस्पताल पहुंचाया गया था। इनमें से एक ने इलाज के दौरान दम तोड़ दिया। वहीं दो अन्य घायलों का अस्पताल में इलाज जारी है।

मृतकों की पहचान इंदिरा देवी पत्नी उत्तम सिंह उम्र 51 वर्ष निवासी ग्राम द्वारी तहसील भटवाड़ी उत्तरकाशी, कर्णलाल पुत्र सेवालाल उम्र 52 वर्ष निवासी साल॔ग तहसील भटवाड़ी, आशा देवी पत्नी मंगदास उम्र 41 वर्ष निवासी ग्राम द्वारी तहसील पटवारी तथा दुर्गा देवी पत्नी श्री धर्म सिंह उम्र 58 वर्ष निवासी ग्राम द्वारी तहसील भटवाड़ी उत्तरकाशी के रूप में हुई है। घटना में वाहन चालक आदित्य रावत पुत्र रामचंद्र उम्र 26 वर्ष निवासी ग्राम द्वारी तहसील भटवाड़ी तथा लुद्दार सिंह पुत्र योगेश उम्र 20 वर्ष निवासी ग्राम द्वारी तहसील भटवाड़ी उत्तरकाशी गंभीर रूप से घायल हो गए हैं। जिनका अस्पताल में इलाज चल रहा है के रूप में हुई।

बताया जाता है कि यह घटना शुक्रवार को 4:00 बजे तहसील भटवाड़ी क्षेत्र के गंगोत्री राष्ट्रीय राजमार्ग के स्थान और बिहार आश्रम बिशनपुर के पास एक ओमनी यूके10टीए/094 जो उत्तरकाशी से द्वारी गांव की ओर जा रहा थी वह रोड से लगभग 60 मीटर नीचे भागीरथी नदी में गिरकर दुर्घटनाग्रस्त हो गया उक्त वाहन में चालक सहित 6 लोग सवार थे जिसमें तीन व्यक्ति घायल हुए तथा तीन व्यक्तियों की घटना स्थल पर मृत्यु हुई तीन घायलों को निकाल चिकित्सालय उत्तरकाशी में लाया गया जिला चिकित्सालय में घायल में से एक और व्यक्ति की मौत हो गई इस प्रकार इस घटना में चार लोगों ने दम तोड़ दिया घटना की सूचना मिलने के बाद एनडीआरएफ एसडीआरएफ तथा पुलिस और स्थानीय लोगों ने राहत और बचाव कर कर सभी लोगों को बाहर निकाला और अस्पताल पहुंचाया।