Tuesday, February 27, 2024
चंपावतजनपद चम्पावतनवीनतम

चम्पावत : डीएम ने सड़क मार्गों की वर्तमान स्थिति व निर्माणाधीन सड़कों की प्रगति के बारे में जाना, निर्माण एजेंसियों की बैठक ली

ख़बर शेयर करें -

चम्पावत। जिलाधिकारी नवनीत पांडे द्वारा जिला कार्यालय सभागार में सड़क निर्माण एजेंसियों, एनएच, लोनिवि, पीएमजीएसवाई, एनपीसीसी एवं पीआईयू खंडों के अधिकारियों के साथ बैठक कर जिले में सड़क मार्गों की वर्तमान स्थिति व निर्माणाधीन सड़कों की प्रगति के अतिरिक्त मानसून काल में बंद सड़क मार्गों को खोले जाने के लिए की जा रही कार्यवाही की जानकारी ली तथा आवश्यक निर्देश सभी अधिकारियों को दिए। जिलाधिकारी ने कहा कि मानसून काल के मद्देनजर सभी सड़क मार्गों को बंद होने पर तत्काल खोला जाए। इसके लिए पर्याप्त मशीनरी व मैन पॉवर की तैयारी जारी रखी जाए।

उन्होंने कहा कि जिले में सड़कों को गड्ढा मुक्त बनाए जाने हेतु सभी खंड प्रस्ताव तैयार करते हुए इस कार्य को प्राथमिकता दें। जिन भी सड़कों की स्वीकृति प्रदान है और धनराशि भी प्राप्त हो गई है तथा टेंडर की कार्यवाही भी पूर्ण हो गई है, तत्काल कार्य प्रारंभ कर निर्धारित समय अंतर्गत कार्य को पूर्ण कर सड़क सुविधा का लाभ गांव वासियों को उपलब्ध कराया जाए। उन्होंने कहा कि बारिश के कारण सड़क मार्ग क्षतिग्रस्त न हो इस हेतु समय-समय पर नालियों, कलमठों, कोजवे की सफाई कराई जाय। सड़क दुर्घटनाओं को रोके जाने हेतु पर्याप्त सेफ्टी के उपाय करने के साथ ही सड़क किनारे झाड़ियों का कटान कराया जाए। डीएम ने कहा कि विभिन्न सड़क मार्गों में जो मोटर पुलों का निर्माण कराया जा रहा है, उनमें गुणवत्ता का विशेष ध्यान देने के साथ ही समय पर उनका निर्माण हो, इस हेतु लगातार अधिकारी स्थलीय निरीक्षण कर कार्यों की जानकारी को जांचे। जिलाधिकारी ने एनएच के अधिकारी से चल्थी ब्रिज निर्माण के साथ ही टनकपुर से चम्पावत के मध्य 09 एनएच में संवेदनशील स्थानों में कराए जा रहे ट्रीटमेंट कार्यों की जानकारी लेते हुए निर्देश दिए कि जो भी कार्य कराए जा रहे हैं, उनमें तकनीकी रूप से पूर्ण मानकों को ध्यान में रखकर गुणवत्ता पूर्वक कराया जाए।

एनएच के अधिशासी अभियंता ने अवगत कराया कि चल्थी पुल मौसम अनुकूल होने पर शीघ्र ही बिटुमिन का कार्य पूर्ण कर फिर पुल की क्षमता की जांच कर यातायात हेतु सुचारू कर दिया जाएगा। उन्होंने वर्तमान में संवेदनशील स्थल किलोमीटर 95 अमोड़ी के निकट 100 कोट अमोड़ी तथा 106 स्वाला के साथ ही कुल 10 स्थानों में कराए जा रहे सुरक्षात्मक कार्यों के बारे में जानकारी दी। जिलाधिकारी ने कहा कि किलोमीटर 106 स्वाला से मलवा जो धौंन बडोली ग्रामीण सड़क पर जा रहा है, जिससे सड़क बंद हो जा रही है, उसके स्थाई समाधान हेतु धौंन बडोली के उक्त स्थल पर एनपीसीसी स्थाई मोटर पुल का प्रस्ताव तैयार कर स्थाई समाधान करें। इसके अतिरिक्त एनएच के अधिशासी अभियंता द्वारा चम्पावत तथा लोहाघाट बाईपास के निर्माण के संबंध में की जा रही कार्यवाही की जानकारी भी जिलाधिकारी को दी। बैठक में जिलाधिकारी द्वारा टनकपुर जौलजीवी सड़क के निर्माण कार्यों की भी समीक्षा की। जिस संबंध में कार्यदायी संस्था पीआईयू, लोनिवि से आए सहायक अभियंता ने अवगत कराया की रूपालीगाड़ तक सड़क का निर्माण हुआ है, चूका से आगे लधिया नदी पर 690 मी स्पान का मोटर पुल स्वीकृत है जो पूर्व में प्राप्त हुई थी। जिसे पुनः आगणन हेतु भेजे गए हैं, स्वीकृति प्राप्त होते ही पुल निर्माण की कार्रवाई प्रारंभ कर दी जाएगी। इसके अतिरिक्त बैठक में जिलाधिकारी द्वारा लोनिवि खंड चम्पावत, लोहाघाट सहित पीएमजीएसवाई चम्पावत, लोहाघाट तथा पीआईयू, एनपीसीसी खंड के अंतर्गत सड़क मार्गों व वर्तमान में निर्माणधीन सड़क मार्गों के संबंध में जानकारी ली। जिलाधिकारी ने कहा कि जिले में जो भी महत्वपूर्ण सड़कों के निर्माण आदि की आवश्यकता है, वह उनके संबंध में उन्हें अवगत कराते हुए प्रस्ताव तैयार कर उन्हें उपलब्ध कराए ताकि उन्हें विशेष योजना में स्वीकृत हेतु शासन को प्रेषित किया जा सकें। बैठक में अपर जिला अधिकारी हेमंत कुमार वर्मा, अधिशासी अभियंता लोनिवि चंपावत, लोहाघाट, एनएच खण्ड पीएमजीएसयाई, जिला आपदा प्रबंधन अधिकारी सहित अन्य अधिकारी उपस्थित रहे।