Monday, February 26, 2024
Latest:
जनपद चम्पावतनवीनतम

चम्पावत : डीएम ने की सीएम की घोषणाओं की समीक्षा, 145 में से 56 हो चुकी हैं पूरी

ख़बर शेयर करें -

जिलाधिकारी नरेंद्र सिंह भंडारी ने सोमवार को विभिन्न विकास कार्यों, मुख्यमंत्री घोषणा की अद्यतन स्थिति, सरकार जनता के द्वार कार्यक्रम सहित विभिन्न विभागों में संचालित विकास कार्यों की समीक्षा की। सरकार जनता के द्वार कार्यक्रम के अंतर्गत जिले में 55 अधिकारियों को जिम्मेदारी देते हुए उनका गांववार रोस्टर तैयार किया गया है। इन अधिकारियों द्वारा रोस्टर के अनुरूप इन गांवों का भ्रमण कर गांव में मूलभूत सुविधाएं, ग्रामीणों की समस्याएं, गांव में संचालित विकास कार्यों का सत्यापन करना, लाभार्थियों को योजनाओं के लाभ की स्थिति आदि के साथ ही ग्रामीणों के साथ बैठक कर विभिन्न जानकारी लेना व उन्हें जानकारी देना है,उसके उपरांत इन अधिकारियों द्वारा भ्रमण की रिपोर्ट जिलाधिकारी को उपलब्ध करानी है।

जिलाधिकारी ने सम्बंधित सभी अधिकारियों को निर्देश दिए कि वह शत-प्रतिशत गांवों का नियमित भ्रमण कर अपनी रिपोर्ट आख्या फोटोग्राफ सहित समय पर उपलब्ध कराएंगे, ताकि उनकी रिपोर्ट के आधार पर अग्रिम कार्यवाही की जाएगी तथा शासन को भी इस संबंध में अवगत कराया जाएगा। बैठक में विकास कार्यों की समीक्षा के दौरान जिलाधिकारी ने सभी कार्यदायी संस्थाओं को निर्देश दिए कि जिले में जो भी निर्माण कार्य संचालित हो रहे हैं उनकी गुणवत्ता, समयबद्धता व पारदर्शिता का विशेष ध्यान रखा जाए। सभी कार्य समय पर पूर्ण हों।

उन्होंने मुख्यमंत्री घोषणा की समीक्षा करते हुए अधिकारियों को निर्देश दिए कि एक भी घोषणा जनपद स्तर पर लंबित नहीं होनी चाहिए। इस हेतु समय पर प्रस्ताव शासन को प्रेषित करते हुए उन घोषणाओं को पूर्ण करने हेतु संबंधित अधिकारी व्यक्तिगत प्रयास करते हुए शासन स्तर पर लगातार संपर्क कर योजनाओं को स्वीकृत कर धरातल पर लाए जाने हेतु तत्परता से कार्य करें। बैठक में अवगत कराया गया कि मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी द्वारा जिले के विकास हेतु वर्तमान तक कुल 145 घोषणाएं की गई हैं। जिनमें से 19 घोषणाएं जनपद स्तर पर, 32 संबंधित विभागों के उच्च स्तर पर तथा 33 घोषणाएं शासन स्तर पर लंबित हैं। वर्तमान तक 56 घोषणाएं पूर्ण हो गई हैं।

बैठक में प्रभागीय वनाधिकारी आरसी कांडपाल, मुख्य विकास अधिकारी राजेंद्र सिंह रावत, जिला विकास अधिकारी संतोष कुमार पंत, सहायक परियोजना निदेशक विमी जोशी, जिला अर्थ एवं संख्याधिकारी दीप्त कीर्ति तिवारी, मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. केके अग्रवाल सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी उपस्थित रहे।

एसडीएम को ग्रामीणों के साथ बैठक कर आपसी विवाद सुलझाने के निर्देश

जनपद में स्वीकृत विभिन्न सड़क मार्ग जो ग्रामीणों के मध्य आपसी विवाद, समन्वय, सामंजस्य एवं समरेखण आदि कारणों से प्रारंभ नहीं हो पा रहे हैं। ऐसे सड़क मार्गों के कार्यों को शीघ्रता से पूर्ण किए जाने को प्राथमिकता में लेते हुए जिलाधिकारी नरेंद्र सिंह भंडारी ने सभी उप जिलाधिकारियों को निर्देश दिए कि वह शीघ्र ही ऐसे सभी गांवों में लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों के साथ जाकर ग्रामीणों के साथ बैठक करते हुए विवाद आदि जिन कारणों से सड़क का निर्माण कार्य प्रारंभ नहीं हो पा रहा है का समाधान करना सुनिश्चित करेंगे। जिलाधिकारी ने कहा कि अनावश्यक किसी भी विवाद/समरेखण आदि कारणों से सड़क निर्माण का कार्य नहीं रुकना चाहिए। उन्होंने इस संबंध में लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों को भी आवश्यक निर्देश दिए हैं।