अल्मोड़ाउत्तराखण्डनवीनतम

उत्तराखंड : पुलिस लाइन में गोली लगने से सिपाही की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत, बागेश्वर का रहने वाला था मृतक

ख़बर शेयर करें -

अल्मोड़ा। पुलिस लाइन अल्मोड़ा में ड्यूटी पर तैनात एक सिपाही की गोली लगने से संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई। जिसके बाद पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया। सिपाही को आनन-फानन में जिला अस्पताल लाया गया, जहां पर चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

घटना आज रविवार सुबह करीब छह बजे के आसपास की है। बताया जा रहा है कि पुलिस लाइन में तैनात सिपाही सुंदर सिंह शाही ने करीब छह बजे नाइट ड्यूटी करने वाले सिपाही से चार्ज लिया। जिसके बाद नाइट ड्यूटी वाला सिपाही अपने कमरे की ओर चला गया। थोड़ी ही देर के बाद अचानक गोली चलने की आवाज सुनाई दी। सुबह का समय होने के कारण आसपास अधिक लोग भी नहीं थे। पुलिसकर्मियों ने गोली चलने की आवाज सुनी तो वह दौड़कर मौके पर पहुंचे, तो देखा कि सुंदर शाही जमीन में गिरा हुआ है। सुंदर को जमीन पर गिरा देख वहां हड़कंप मच गया। आनन-फानन में उच्चाधिकारियों को इसकी जानकारी दी गई। जिसके बाद उसे जिला अस्पताल ले जाया गया, जहां पर चिकित्सकों ने सिपाही को मृत घोषित कर दिया।

सिपाही सुंदर शाही बागेश्वर के कपकोट जिले का रहने वाला था। वह साल 2012 के बैच का था, जो पुलिस लाइन अल्मोड़ा में तैनात था। सुंदर के परिवार में उसकी दो छोटी बेटी और पत्नी हैं। एक बेटी मात्र दो माह की है। मृतक अपने परिवार का इकलौता बेटा था। उसकी चार बहनें हैं, जिनका विवाह हो चुका है। मृतक अपनी पत्नी व बच्चों के साथ अल्मोड़ा पुलिस लाइन ही रहता था। जबकि उसके माता पिता कपकोट बागेश्वर में रहते हैं।

एसएसपी देवेंद्र पींचा ने कहा कि सुबह पुलिस लाइन में तैनात संतरी सुंदर शाही की गोली लगने से मौत हो गई है। किस परिस्थितियों में गोली चली है इसकी जांच की जा रही है। वहीं कहा की मामला आत्महत्या का है या कोई दुर्घटना है यह जांच का विषय है। इसके लिए जांच शुरू कर दी गई है। घटनास्थल की फोरेंसिक जांच का पड़ताल की गई है। मौत के कारणों की जानकारी जांच रिपोर्ट आने के बाद ही पता चल सकेगी। पुलिस ने मृतक सिपाही के शव को मोर्चरी में रखवा आगे की कार्रवाई शुरू कर दी है।